रंगदारी मांगे जाने से भयभीत डॉक्टर ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर लगाई सुरक्षा की गुहार,जाने पूरा मामला

डॉ. सुरेश कुमार प्रजापति के अनुसार उन्होंने अपने पूर्व एंबुलेंस चालक रोहतास के चिनारी क्षेत्र के उर्दा गांव निवासी विकास तिवारी के खिलाफ बीते सात नवंबर को रोहनिया थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।

अवलेशपुर स्थित निजी अस्पताल के संचालक डॉ. सुरेश कुमार प्रजापति को चिट्ठी भेज कर 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई है। 25 नवंबर तक रुपये न देने पर गोली मारने की धमकी दी गई है। धमकी भरा पत्र मिलने के दूसरे दिन शनिवार को भी मुकदमा दर्ज न होने और सुरक्षा न मिलने पर डॉ. सुरेश ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई। कहा कि पुलिस आयुक्त से मिल कर वह अपनी जानमाल की सुरक्षा की गुहार लगाई। पुलिस आयुक्त मुथा अशोक जैन ने रोहनिया थानाध्यक्ष को प्रकरण में प्रभावी कार्रवाई का निर्देश दिया।

डॉ. सुरेश कुमार प्रजापति के अनुसार उन्होंने अपने पूर्व एंबुलेंस चालक रोहतास के चिनारी क्षेत्र के उर्दा गांव निवासी विकास तिवारी के खिलाफ बीते सात नवंबर को रोहनिया थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। विकास उन्हें लगातार धमका रहा था और पैसा देने के लिए कह रहा था। उसी ने धमकी भरा पत्र भेज कर उनसे 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी है। पुलिस उनकी शिकायत को गंभीरता से नहीं ले रही है और प्रभावी कार्रवाई नहीं कर रही है। इस वजह से वह अपनी सुरक्षा को लेकर भयभीत हैं। उधर, इस संबंध में रोहनिया थानाध्यक्ष ने कहा कि जिस पते से डॉक्टर के पास चिट्ठी आई थी और जो बैंक अकाउंट नंबर पैसा जमा करने के लिए भेजा गया था, वह दोनों जांच में फर्जी निकले हैं। प्रकरण की जांच जारी है।

Related Articles

Back to top button