गूगल ने दी गूगल पे यूजर्स को सलाह,फोन में इन ऐप्स को भूलकर भी न करें इस्तेमाल

अपने कस्टमर्स के लिए कई खास फीचर्स लाता रहता है जिसमें से एक गूगल पे भी है। ये भारत के टॉप यूपीआई पेमेंट ऐप्स में गिना जाता है। अपने कस्टमर्स की सिक्योरिटी के लिए ऐप्स ने कुछ सावधानी बरतने की बात कही हैं। गूगल का कहना है कि पेमेंट ऐप का इस्तेमाल करते समय किसी भी स्क्रीन शेयरिंग ऐप का इस्तेमाल ना करें।

Google ने अपने कस्टमर्स के लिए कई नई सुविधाएं लाता रहता है , ताकि उन्हें बेहतर एक्सपीरियंस मिल सकें। Google Pay भी एक ऐसी सुविधा है , जो आपको आसानी से कहीं भी और कभी भी पेमेंट करने में मदद कर सकती है।

जैसा कि हम जानते हैं कि यह देश भर के सबस लोकप्रिय पेमेंट ऐप में से एक है। इसके साथ ही भारत गूगल के लिए सबसे बड़ा मार्केट है, जिसमें लाखो लोग इसके पेमेंट ऐप का इस्तेमाल करते है। इसलिए अपने यूजर्स और उनकी सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए कंपनी ने Google की बेस्ट आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और फ्रांड रोकथाम तकनीक का उपयोग कर रहा है।

पेमेंट करने समय कभी न खोलें ये ऐप

  • कंपनी का कहना है कि हम आपकी सुरक्षा के लिए लगातार और सक्रिय रूप काम कर रहे हैं, लेकिन आपको भी सावधान रहना जरूरी है। इसलिए कंपनी ने अपने बेवसाइट पर गूगल पे का इस्तेमाल के समय कुछ खास चीजों को करने से रोका है।
  • इसमें से एक स्क्रीन शेयरिंग ऐप्स को बंद रखना शामिल है, जिसको पेमेंट करते समय ध्यान रखना होगा। आइये इसके बारे में जानते हैं।

क्यों ना खोंले स्क्रीन शेयरिंग ऐप्स

Google Pay अपने कस्टमर्स को इस ऐप को ना खोलने के कुछ जरूरी कारण बताए है। साथ ही यह भी कहा है कि इससे स्कैमर्स को आपके डिवाइस को कंट्रोल करना का ऑप्शन दे देता है, जो आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

  • स्कैमर्स आपके फोन को कंट्रोल करके ट्रांजैक्शन कर सकते हैं।
  • आपके एटीएम या डेबिट कार्ड की डिटेल जान सकते है और इसका गलत इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • आपके फोन को एक्सेस करने के कारण सभी OTP और मैसेज पर स्कैमर्स का कंट्रोल हो जाता है, जिसका वे गलत इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • इसके अलावा कंपनी ने यह ही चेतावनी दी कि अगर आप किसी थर्ड पार्टी ऐप का इस्तेमाल करते हैं तो पेमेंट ऐप का उपयोग करने से पहले उस ऐप तो बंद कर लें। ऐसा इसलिए क्योंकि यह आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

Related Articles

Back to top button