ट्रेन के इन नियमों को नहीं मानने पर दंड, जाने नियम

दुनिया की सबसे बड़ी रेल नेटवर्क भारतीय रेल ने यात्रियों की सुविधा के लिए कई बेहतरीन नियम बनाए हैं। प्रतिदिन रेल के माध्यन से कई लाख लोग एक जगह से दूसरे जगह जाते हैं।

ट्रेन में यात्रा करने के लिए टिकट लेना अनिवार्य है ऐसा नहीं करने पर रेलवे के नियमों का उल्लंघन माना जाता है। आज हम आपको रेलवे के ऐसे ही कुछ और नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका पालन नहीं करने पर आपको दंड भरना पड़ सकता है। ऐसे में अगर आप ट्रेन से यात्रा करते हैं तो आपके लिए ये जरूरी खबर हो सकती है।

किस स्थिति में कितना दंड?

दुनिया की सबसे बड़ी रेल नेटवर्क भारतीय रेल ने यात्रियों की सुविधा के लिए कई बेहतरीन नियम बनाए हैं। प्रतिदिन रेल के माध्यन से कई लाख लोग एक जगह से दूसरे जगह जाते हैं।

ट्रेन में यात्रा करने के लिए टिकट लेना अनिवार्य है ऐसा नहीं करने पर रेलवे के नियमों का उल्लंघन माना जाता है। आज हम आपको रेलवे के ऐसे ही कुछ और नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका पालन नहीं करने पर आपको दंड भरना पड़ सकता है। ऐसे में अगर आप ट्रेन से यात्रा करते हैं तो आपके लिए ये जरूरी खबर हो सकती है।

किस स्थिति में कितना दंड?

  • अगर कोई व्यक्ति बिना टिकट ट्रेन से यात्रा करते हुए पकड़ा जाता है तो रेलवे के नियमों के मुताबिक उसे छह महीने तक की जेल या अधिकतम 1,000 रुपये का जुर्माना भरना पड़ सकता है। जुर्माने की न्यूनतम राशि 250 रुपये है, साथ ही अपराधी द्वारा यात्रा की गई दूरी के टिकट की कीमत भी शामिल है।
  • मान लीजिए आपने स्लीपर कोच का टिकट लिया है और एसी कोच में आप बैठकर यात्रा करते हैं। इस स्थिति में पकड़े जाने पर उस व्यक्ति को एसी कोच के किराए और स्लीपर कोच के किराए के बीच के अंतर जितना पैसा देना होगा। इसके अलावा अतिरिक्त दंड शुक्ल भी टीटीई द्वारा लगाया जा सकता है।
  • अगर आपने ऑनलाइन टिकट बुक करवाया है तो यात्रा के दौरान आपके पास आपकी कोई आईडी यानी पहचान पत्र होना चाहिए। यदि आप अपनी आईडी टीटीई को नहीं देते तो टीटीई आपको बीना टिकट मानकर आपसे दंड वसूल सकता है।
  • अगर कोई ट्रेन में शराब पीकर सफर करता है या सफर के दौरान शराब पीता है तो उसे ट्रेन से उतार दिया जाएगा, इसके अलावा उस व्यक्ति पर 500 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा और छह महीने की जेल भी होगी।
  • अगर आप युवा हैं और बिना टिकट यात्रा करते पकड़े जाते हैं तो आपको न्यूनतम 250 रुपये दंड या अतिरिक्त शुक्ल या दोनों देना पड़ सकता है।
  • भारतीय रेलवे अधिनियम की धारा 141 के अनुसार, जो कोई भी बिना किसी उचित कारण के आपातकालीन चेन खींचकर ट्रेन को रोकता है, उसे एक साल तक की कैद या 1,000 रुपये तक का जुर्माना या दोनों का सामना करना पड़ सकता है।
  • रेलवे के नियमों के मुताबिक किसी को भी ट्रेन में धूम्रपान करने की अनुमति नहीं है और ऐसा करते हुए पकड़े जाने पर 200 रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है।
  • यदि कोई बिना टिकट या अनुमति के रेलवे ट्रैक पार करता है या प्लेटफॉर्म में प्रवेश करता है, तो उसे 1,000 रुपये का जुर्माना या जेल हो सकता है।

Related Articles

Back to top button