अपच की समस्या हो सकती है पेट के कैंसर का संकेत,जाने कैसे…

पेट के कैंसर से दुनिया भर में लाखों लोग पीड़ित हैं। यह दुनिया का चौथा सबसे खतरनाक कैंसर है जो लिवर कैंसर के बाद सबसे अधिक मौतों के लिए जिम्मेदार है। इसलिए इसके लक्षणों के बारे में पता कर इसका जल्द से जल्द इलाज करवा सकें। जानें क्या होते हैं पेट के कैंसर के लक्षण रिस्क फैक्टर्स और बचाव के तरीके।

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) की एक रिपोर्ट के मुताबित, 2020 में दुनिया भर में पेट के कैंसर के 10 लाख नए केस सामने आए हैं। यह आंकड़ा बताता है कि पेट के कैंसर की वजह से दुनिया में लाखों लोगों की मौत होती है। हालांकि, इतनी गंभीर बीमारी होने के बावजूद, इस बारे में लोगों के पास काफी जानकारी होती है। इस कारण से, इस बारे में लोगों में जानकारी होना बहुत जरूरी है ताकि, वक्त रहते इसका पता लगाकर इलाज किया जा सके। आइए जानते हैं क्या हैं पेट के कैंसर के लक्षण, रिस्क फैक्टर और बचाव।

क्या होता है पेट का कैंसर?

क्लीवलैंड क्लीनिक के अनुसार, पेट का कैंसर तब होता है, जब पेट में कैंसर सेल्स अनियंत्रित तरीके से बढ़ने लगते हैं। यह पेट के किसी भी हिस्से में हो सकता है और इसका इलाज न किया जाए, तो यह ट्यूमर  का रूप लेकर, लिवर और पैनक्रियाज में फैल सकता है। पेट के कैंसर को गैस्ट्रिक कैंसर भी कहते हैं।

क्या है पेट के कैंसर के लक्षण?

  • थकावट
  • अपच
  • हार्ट बर्न
  • ब्लोटिंग
  • उल्टी या मितली आना
  • भूख न लगना
  • खाना निगलने में तकलीफ
  • वजन कम होना
  • थोड़ा खाने से भी पेट भरा-भरा लगना
  • पेट में दर्द

क्या हैं इसके रिस्क फैक्टर?

  • अधिक नमक व तेल वाला खाना
  • स्मोकिंग या तंबाकू खाना
  • शराब पीना
  • पेट का अल्सर
  • पेट के म्यूकस की परत में सूजन
  • खाने में फल और सब्जी को कम या न शामिल करना
  • मोटापा
  • पेट में बैक्टिरीयल इन्फेक्शन
  • जेनेटिक्स

कैसे करें इससे बचाव?

स्मोकिंग न करें

अगर आप स्मोक करते हैं, तो यह करना बंद कर दें। स्मोकिंग सिर्फ पेट के कैंसर का नहीं, बल्कि अन्य दूसरी बीमारियां, जैसे- फेफड़ों का कैंसर, दिल की बीमारियां, मुंह का कैंसर आदि भी हो सकता है। इसलिए, स्मोकिंग करना बंद कर दें और अगर आप स्मोक नहीं करते हैं, तो सेकेंड हैंड स्मोक से भी दूर रहें। यह भी सेहत के लिए हानिकारक होता है।

अल्सर जैसी समस्याओं का इलाज कराएं

अल्सर आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। अल्सर की वजह से पाचन से जुड़ी समस्याओं के साथ-साथ पेट के कैंसर की भी समस्या हो सकती है। इसलिए अगर ऐसी कोई समस्या है, तो इसे अनदेखा न करें और तुरंत इसका इलाज कराएं।

डाइट में फलों और सब्जियों को शामिल करें

अपनी डाइट में फलों और सब्जियों को शामिल करें। इससे आपकी सेहत भी बेहतर रहेगी और अन्य दूसरी बीमारियों से भी बचाव में मदद मिलेगी। इसके साथ ही, अपनी डाइट में से प्रोसेस्ड फूड्स को बाहर करें।

एक्सरसाइज करें

मोटापा पेट के कैंसर की वजह बन सकता है। इसलिए, रोज एक्सरसाइज करें। इससे आपका वजन भी कम होगा और आपकी सेहत भी अच्छी रहेगी।

Related Articles

Back to top button