इजरायल-हमास के बीच होगा युद्धविराम? पढ़े पूरी खबर

व्हाइट हाउस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता एड्रिएन वॉटसन ने कहा है कि गाजा में बंधक बनाए गए लोगों को रिहा करने के लिए अमेरिका इजरायल और हमास के बीच समझौता कराने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है। प्रवक्ता ने वॉशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट के जवाब में कहा कि हम अभी तक किसी समझौते पर नहीं पहुंचे हैं लेकिन इसके लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

इजरायल-हमास के बीच चल रहे युद्ध को समाप्त करने के लिए अमेरिका अब शांति समझौते पर काम कर रहा है। व्हाइट हाउस ने बताया कि अमेरिका गाजा में बंधकों की सुरक्षित रिहाई के लिए एक समझौते पर काम कर रहा है।

इजरायल और हमास के बीच समझौता कराने में जुटा अमेरिका

व्हाइट हाउस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता एड्रिएन वॉटसन ने कहा है कि गाजा में बंधक बनाए गए लोगों को रिहा करने के लिए अमेरिका, इजरायल और हमास के बीच समझौता कराने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है। प्रवक्ता ने वॉशिंगटन पोस्ट की एक रिपोर्ट के जवाब में कहा कि हम अभी तक किसी समझौते पर नहीं पहुंचे हैं, लेकिन इसके लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

रिपोर्ट में क्या ये दावा?

रिपोर्ट में कहा गया है कि इजरायल, अमेरिका और हमास ने एक संभावित समझौते पर सहमति जताई है, जिसमें गाजा में बंधक बनाए गए दर्जनों महिलाओं और बच्चों को लड़ाई में पांच दिनों के युद्धविराम के दौरान रिहा किया जा सकेगा।

रिपोर्ट में कुछ अधिकारियों का हवाला देते हुए कहा गया है कि यह प्रक्रिया अगले कुछ दिनों में शुरू हो सकती है। इसमें कहा गया है कि गाजा में युद्ध छिड़ने के बाद पहली बार शांति देखने को मिल सकती है।

युद्धविराम की घोषणा के बाद छोड़े जा सकते हैं लोग

छह पन्नों के समझौते के अनुसार, युद्ध के सभी पक्ष कम से कम पांच दिनों के लिए युद्धविराम की घोषणा करेंगे। जिसके बाद शुरुआत दिनों में 50 या अधिक बंधकों को एक ग्रुप बनाकर प्रत्येक 24 घंटे में रिहा रिहा किया जाएगा। हालांकि, यह साफ नहीं है कि समझौते के तहत हमास की कैद में मौजूद 239 लोगों में से कितने लोगों को रिहा किया जाएगा।

कतर ने निभाई मध्यस्थ की भूमिका

द वॉशिंगटन पोस्ट के अनुसार, इजरायल, अमेरिका और हमास के बीच दोहा में कई हफ्तों की बातचीत चली है, जिसमें समझौते को लेकर एक रूपरेखा तैयार की गई है। अरब और अन्य राजनयिकों के अनुसार, इस बातचीत में कतर ने मध्यस्थ की भूमिका निभाते हुए इसका प्रतिनिधित्व किया था।

Related Articles

Back to top button