इस विश्व कप में लगे 40 शतक,बल्लेबाजों ने चौके-छक्के जड़कर रचा इतिहास,2015 का रिकॉर्ड टूटा

क्रिकेट का महाकुंभ विश्व कप 2023 खत्म हो चुका है। भारत खिताब जीतते-जीतते रह गया और फाइनल में उसे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा। इसी के साथ घरेलू टीम के विश्व कप जीतने का सिलसिला भी टूट गया। 2011 से लेकर 2019 विश्व कप तक मेजबान देश ही विश्व कप जीतता रहा है। हालांकि, अब यह क्रम टूट गया। भारत में यह विश्व कप होने के कारण कई रिकॉर्ड बने और टूटे।

रोहित शर्मा ने इस विश्व कप में 11 मैचों की 11 पारियों में 54.27 की औसत और 125.95 के स्ट्राइक रेट से 597 रन बनाए। इनमें एक शतक और तीन अर्धशतक शामिल हैं। यह किसी एक विश्व कप में किसी कप्तान द्वारा सबसे ज्यादा रन हैं। इससे पहले यह रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के केन विलियम्सन के नाम था। उन्होंने 2019 विश्व कप में नौ पारियों में 82.57 की औसत से 578 रन बनाए थे। इनमें दो शतक और दो अर्धशतक शामिल थे। रोहित लगातार दो विश्व कप में 500 से ज्यादा रन बनाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज भी हैं।

2. ग्लेन मैक्सवेल

मैक्सवेल ने अफगानिस्तान के खिलाफ नाबाद 201 रन की पारी खेली थी और अपने दम पर ऑस्ट्रेलिया को जीत दिलाई थी। इस जीत ने कंगारुओं को सेमीफाइनल में पहुंचा दिया था। मैक्सवेल वनडे इतिहास में चेज करते हुए दोहरा शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी बने। वहीं, 128 गेंद में दोहरा शतक दूसरा सबसे तेज दोहरा शतक है।

3. दक्षिण अफ्रीका

दक्षिण अफ्रीका ने इस साल विश्व कप में अपने पहले ही मैच में श्रीलंका के खिलाफ 428 रन बनाए थे। यह विश्व कप इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर है। वहीं, दक्षिण अफ्रीका की टीम से इस विश्व कप में कुल नौ शतक लगे, जो कि किसी एक विश्व कप संस्करण में किसी टीम के खिलाड़ियों द्वारा लगाए गए सबसे ज्यादा शतक हैं। ऑस्ट्रेलिया की ओर से इस विश्व कप में आठ और भारत की ओर से सात शतक लगे।

4. मोहम्मद शमी

शमी ने इस साल विश्व कप में अपने प्रदर्शन से सभी को चौंका दिया। उन्होंने सात मैचों में 24 विकेट झटके। इसमें न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में सात विकेट भी शामिल है। शमी इस संस्करण में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी रहे। इन 24 विकेट के साथ शमी के विश्व कप में कुल विकेटों की संख्या 55 हो चुकी है। वह इस टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे ज्यादा विकेट लेने वालों में पांचवें स्थान पर पहुंच गए हैं। शमी ने 18 मैचों की 18 पारियों में 55 विकेट लिए। 57 रन देकर सात विकेट उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। शमी से आगे सिर्फ ग्लेन मैक्ग्रा (71 विकेट), मुथैया मुरलीधरन (68 विकेट), मिचेल स्टार्क  (65 विकेट) और लसिथ मलिंगा (56 विकेट) हैं। शमी ने विश्व कप में 50 विकेट सिर्फ 17 पारियों में पूरे किए। वह विश्व कप में सबसे तेज 50 विकेट पूरे करने वाले गेंदबाज हैं।

5. 40 शतक

भारत में खेले गए इस विश्व कप में कुल 40 शतक लगे। यह इस टूर्नामेंट के किसी एक संस्करण में सबसे ज्यादा शतकों का रिकॉर्ड है। इससे पहले 2015 विश्व कप में कुल 38 शतक लगे थे।

6. 2883 बाउंड्रीज

इस विश्व कप में कुल 2883 बाउंड्रीज (चौके+छक्के) लगीं। यह किसी एक विश्व कप संस्करण में सबसे ज्यादा बाउंड्रीज का रिकॉर्ड है। इस विश्व कप में कुल 2239 चौके और 644 छक्के लगे। ऑस्ट्रेलिया की टीम ने सबसे ज्यादा 384 बाउंड्रीज लगाईं। इनमें 287 चौके और 97 छक्के शामिल हैं। वहीं, भारत की ओर से 370 छक्के लगाए। इनमें 278 चौके और 92 छक्के लगाए। न्यूजीलैंड 347 बाउंड्रीज (265 चौके, 82 छक्के) के साथ तीसरे और दक्षिण अफ्रीका 342 बाउंड्रीज (243 चौके, 99 छक्के) के साथ चौथे स्थान पर रहा।

7. विराट कोहली

विराट ने इस विश्व कप में 765 रन बनाए। यह विश्व कप के किसी एक संस्करण में किसी बल्लेबाज द्वारा बनाए गए सबसे ज्यादा रन हैं। उन्होंने 11 मैचों की 11 पारियों में 95.62 के औसत और 90.32 के स्ट्राइक रेट से 765 रन बनाए। इनमें तीन शतक और छह अर्धशतक शामिल हैं। वह किसी एक विश्व कप में 700 का आंकड़ा छूने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज भी हैं।

8. हारिस रऊफ

हारिस रऊफ ने इस विश्व कप में 16 विकेट जरूर लिए, लेकिन इसके लिए उन्होंने 533 रन खर्च किए। वह किसी एक विश्व कप में सबसे ज्यादा रन लुटाने वाले गेंदबाज बन गए हैं। उन्होंने इस मामले में इंग्लैंड के आदिल रशीद का रिकॉर्ड तोड़ा। आदिल ने 2019 विश्व कप में 526 रन लुटाए थे। लिस्ट में तीसरे नंबर पर श्रीलंका के दिलशान मदुशंका हैं, जिन्होंने इस विश्व कप में 525 रन लुटाए, जबकि 2019 विश्व कप में 502 रन लुटाने वाले मिचेल स्टार्क चौथे स्थान पर हैं।

Related Articles

Back to top button