उत्तरकाशी टनल में फसे मजदूरों को बचाने के लिए इंदौर से आई एक और मशीन

उत्तरकाशी में टन में फंसे मजदूरों को निकलने के लिए लगातार प्रयास जारी है। टनल में अभी तक 22 मीटर की ड्रिलिंग पूरी हो पाई है। कल करीब 11 बजे ड्रिल मशीन आगले हिस्से में लगे बोरिंग टूट गई थी। जिसके चलते कार्य बंद है।

मलबा गिरने की आशंका

कल रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान टीम को टनल के भीतर तेज पार्किंग की आवाज सुनाई दी। आशंका है कि टनल में और भी मलबा गिर सकता है।

एक और मशीन लाने की तैयारी

NHIDCL टनल परियोजना निदेशक अंशू मनीष खलको ने बताया कि टनल के 24 मीटर अंदर तक पहुंच गए हैं। यह एक अच्छी खबर है। जल्द से जल्द टनल के दूसरे छोर पर पहुंचने की कोशिश की जा रही है। इंदौर से एक और मशीन एयरलिफ्ट लाया गया है।

अपर मुख्य सचिव ने दिए आवश्यक दिशा निर्देश 

उत्तरकाशी के सिल्क्यारा में चल रहे रेस्क्यू ऑपरेशन को लेकर प्रमुख सचिव राधा रतूड़ी ने आपदा नियंत्रण कार्यालय बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इसके अलावा रतूड़ी ने रेस्क्यू ऑपरेशन की वर्तमान स्थिति की जानकारी ली।

Related Articles

Back to top button