पी.जी.आई. में मरीजों को मिलेगी बड़ी राहत, जानिए पूरी डिटेल्स

चंडीगढ़ः पी.जी.आई. में जल्द ही मरीजों को एक बड़ी राहत मिलने वाली है। पी.जी.आई. एमरजैंसी में मौजूद प्राइवेट कैमिस्ट शॉप की जगह अब अमृत फार्मेसी से मरीजों को दवाइयां मिलेगी। डायरैक्टर पी. जी. आई. डॉ. विवेक लाल के मुताबिक हमारा मकसद मरीजों को सस्ते दामों पर दवाइयां उपलब्ध कराना है, ताकि मरीजों को ज्यादा से ज्यादा फायदा हो। हमारी कोशिश जल्द से जल्द इस फार्मेसी को खोलने की है।

पी.जी. आई. में आने वाले मरीजों के लिए दवाइयों पर ओवरचार्जिंग हमेशा से एक बड़ी परेशानी रही है। कैंपस में मौजूदा कैमिस्ट शॉप डिस्काऊंट देती है, है, लेकिन इसके बावजूद मरीजों को वह दवाइयां बाहर के मुकाबले महंगी पड़ती है। खास कर एमरजैंसी में मौजूद कैमिस्ट शॉप पी. जी. आई. की सबसे ज्यादा रेंट (एक करोड़ रुपए से ज्यादा) देने वाली शॉप है। एमरजैंसी में आने वाले मरीजों के पास वक्त की कमी होती है, ऐसे में उन्हें मजबूरी में इन दुकानों से दवाइयां लेनी पड़ती है, जोकि बाहर सस्ते दामों पर मिलती है। हालांकि डायरैक्टर पी. जी. आई. कई बार कह चुके हैं कि वह एमरजैंसी में जनऔषधि या अमृत आऊटलेट खोलने की योजना बना रहे हैं, ताकि मरीजों को राहत मिल सके। ऐसे में यह कदम मरीजों को ओवरचार्जिंग से बचाएगा।

जन औषधि और अमृत से राहत
फिलहाल पी.जी.आई. में कैंपस में अमृत और जन औषधि के आऊटलेटस है जहां मरीजों को सस्ते दामों पर दवाइयां और लइम्प्लांट मिलते हैं। डायरेक्टर काफी वक्त से जेनरिक मैडिसन को भी बढ़ावा दे रहे हैं। इसके लिए डायरेक्टर ने कई बार लिखित में भी डॉक्टर्स को कहा है कि वह ज्यादा से ज्यादा जैनरिक मैडिसन लिखे, लेकिन डॉक्टर्स की माने तो कई बार जैनरिक में वहसाल्ट नहीं मिल पाता, ऐसे में वह जैनरिक नहीं लिख पाते। पी.जी.आई. कैंपस में सात अमृत फार्मसी, दो जनऔपधि स्टोर और चार प्राइवेट कैमिस्ट शॉप हैं। पी.जी.आई. में छह और प्राइवेट कैमिस्ट शॉप मौजूदा वक्त में खाली हैं और उपयोग में नहीं हैं। अमृत का मतलब इलाज के लिए किफायती दवाएं और अच्छे इम्प्लांट है। अमृत रिटेल फार्मेसी नेटवर्क अधिकतम खुदरा मूल्य (एम.आर.पी.) के 60 प्रतिशत तक की छूट पर दवाएं, इम्प्लांट, सर्जिकल डिस्पोजेबल और अन्य वस्तुएं देता है।

Related Articles

Back to top button